PM-WANI Scheme क्या है? PM WANI Scheme How To Apply

हम इस आर्टिकल में भारत सरकार की एक स्कीम के बारे में बात करने वाले हैं। जोकि PM-WANI Scheme के नाम से हैं। यानी कि  Prime Minister Wi-Fi Access Network Interface है। इस स्कीम के तहत सरकार चाहती है कि पूरे देश को Public Wi-fi से जोड़ा जाए। ताकि सभी को broadband से हाई स्पीड इंटरनेट मिल सके। अभी पब्लिक WiFi सिर्फ रेलवे स्टेशन और बस स्टेशन पर देखने को मिलते हैं। लेकिन आने वाले समय में आपको हर जगह पब्लिक वाईफाई देखने को मिल जाएंगे।

PM-WANI Yojana की क्या जरूरत है?

हम सभी जानते है की आज हम जिस समस्या से गुजर रहे की वजह से वाईफाई और इंटरनेट की मांग काफी बढ़ गई है। क्योंकि इस कारण सब चीजे ऑनलाइन आ गई है। इस वजह से अब हाई स्पीड इंटरनेट की जरूरत होगी इसके लिए पूरे देश में ब्रॉडबैंड के पब्लिक हॉटस्पॉट बनाए जाएंगे जिसकी मदद से हर कोई कहीं पर भी हाई स्पीड इंटरनेट का यूज कर पाएगा। 

इस स्कीम का क्या फायदा मिलेगा

इस स्कीम के माध्यम से हाई स्पीड इंटरनेट के साथ-साथ लोगों को रोजगार भी मिलेगा और छोटे और घरेलू बिजनेस भी ऑनलाइन आएंगे। PM-WANI स्कीम से छोटी दुकानों के मालिक को एक एक्स्ट्रा इनकम का भी विकल्प मिल जाएगा। क्योकि इस योजना के तहत पुरे देश में फ़ास्ट पब्लिक विफई  उपलब्ध करना है। इसके लिए जो pdo यानि की public data officers जरूरत पड़गी  और ये PDOs कोई भी हो सकते है अगर आपके भी कोई शॉप या किसी भी प्रकार का  है तो आप फ्री में अपने है यह public Wi-Fi लगवा कर अपने बिजनिस को और आगे लेजा सकते है।  

How It Will Be Implemented

सरकार ने पीएम बानी स्कीम की घोषणा तो कर दी लेकिन अब सवाल यह है कि इसे पूरे देश में किस प्रकार लगाया जाएगा। इसके लिए सरकार ने PM-WANI Scheme  को 3 हिस्सो में बांट दिया है। इससे काम जल्दी से पूरा हो पाएगा। क्योकि इस में किसी भी प्रकार का रजिस्ट्रेशन नहीं करना ,ना ही लाइसेंस चाहिए और ना  ही आपको फीस देनी है। 

  1. PDO
  2. PDOA
  3. App Provider

Public Data Officers(PDOs)

पब्लिक डाटा ऑफिसर कौन होगा यहां पर PDOs कोई भी हो सकता है। जैसे ग्रॉसरी स्टोर रेस्टोरेंट्स स्टेशनरी कैफे आदि सभी अपने आपको पब्लिक डाटा ऑफिसर के रूप में देख सकते हैं। इसके लिए किसी भी प्रकार के लाइसेंस यह रजिस्ट्रेशन फीस की जरूरत नहीं होगी।

Public Data Office Aggregator(PDOA)

इनका काम सभी पब्लिक  hotspots के डाटा को मैनेज करना और इनके पास लाइसेंस और अथॉरिटी होगी कि किनको पब्लिक हॉटस्पॉट देना है। सभी PDOs सही से काम कर रहे हैं या नहीं यानी कि सारे पब्लिक वाईफाई की जिम्मेदारी इनकी रहेगी। और pdo का काम आपको सिर्फ सर्विस देना रहेगा।

App Providers

पूरे देश में wi-fi हॉटस्पॉट लग जाएंगे तो आपको कैसे पता चलेगा कि यहां पर हाई स्पीड वाईफाई मौजूद है। पूरा काम पे प्रोवाइडर का रहेगा ताकि आपको पता चलता है।कि आपके एरिया में यह आपकी आवास विकास कौन-कौन से पब्लिक वाईफाई मौजूद है। यानी कि इनका कोई  App होगा जिसको अपने फोन में इंस्टॉल करके रखना होगा और जब भी आप इसको ओपन करोगे तो आपको पता चल जाएगा कि आपके आसपास कौन से नेटवर्क पर मौजूद है

क्या PM-WANI से Free मिलेगा WiFi?

दोस्तों आप सोच रहे होंगे कि PM-WANI स्कीम के तहत पूरे देश में फ्री वाईफाई दिया जाएगा लेकिन ऐसा नहीं है। क्योंकि आपको इसकी पैसे देने पड़ेंगे लेकिन यह कीमत बहुत ही कम होगी इतनी की हर कोई इसका फ्री वाईफाई को कुछ पैसे देकर एक्सेस कर पाए इसकी कीमत फिक्स नहीं होगी कॉन्पिटिटिव आधार इस पर इसकी price तय होगी यानी कि कीमत ज्यादा नहीं होगी।

क्योंकि हमारे देश में पहले से ही मोबाइल डाटा काफी सस्ता है इसी को ध्यान में रखते हुए इस ब्रॉडबैंड नेटवर्क से जो हाई स्पीड इंटरनेट मिलेगा उसकी कीमत भी मोबाइल डाटा को ध्यान में रखकर तय होगी वह सरकार किसी भी  डाटा प्रोवाइडर पर दबाव नहीं बनाएगी कि आपको इतनी ही Price रखनी है। यही कारण है की प्रतिस्पर्धा के चलते WiFi की कीमत काफी कम होने वाली है।

PM-WANI Scheme सुरक्षित है ?

अब Public WiFi  की बात आती है तो यह  Social Media चलाने तक ठीक है लेकिन आप इसकी मदद से अपना कोई Important काम जैसे Banking से समन्धित तो यहां पर डेटा सुरक्षा की बात सामने निकल कर आती हैं।  कि आपका डाटा कितना सुरक्षित है पब्लिक वाईफाई है तो सभी तरह के लोग इसे एक्सेस करेंगे और इससे डाटा चोरी का भी खतरा बना रहेगा।

परंतु  यह PM-WANI scheme जो कि एक सरकारी स्कीम है तो इसके चलते हैं यहां पर Security का भी काफी ख्याल रखा जाएगा। और एक सिक्योर सिस्टम बनाने की कोशिश की जाएगी ताकि लोग अपने डेटा को लेकर चिंतित ना हो।

आपको क्या लगता है कि भारत में है यह PM-WANI scheme काम करेगी क्योंकि हमारे देश में पहले से ही मोबाइल डाटा इतना सस्ता है। सभी के पास एंड्राइड मोबाइल फोन होने से 4G इंटरनेट कि कनेक्टिविटी भी है तो ऐसे में लोग पैसे देकर क्यों पब्लिक वाईफाई यूज करेंगे लेकिन इसका पता तो इसके चालू होने के बाद ही चलेगा।

Registration

इसके लिए आपको एक Application Form की जरूरत पड़ेगी जोकि आपको  official website से मिल जायेगा। यह पर रजिस्ट्रेशन सिर्फ Public Data Office Aggregator (PDOA) / App Provider को ही करना है।  

FAQ For PM-WANI Scheme

Which listed companies will benefit from PM WANI Scheme

इस स्कीम से किसी एक कंपनी को लाभ नहीं होगा क्योकि Public WiFi पुरे देश में लगेंगे और कोई भी Grocery Store, या restaurant चलाने वाला PM-WANI Scheme के तहत PDOs बन कर इसका benefit ले सकता है

pm wani scheme full form क्या है ?

PM-WANI ( प्रधानमंत्री- वाई-फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफ़ेस )

pm wani किस मिनिस्ट्री के अंतर्गत आता है ?

PM WANI Scheme डिपार्टमेंट ऑफ़ टेलिकम्युनिकशन के अंतर्गत आता है।

Conclusion 

आपने article में PM-WANI scheme के बारे में जाना और किस प्रकार पूरे भारत में वाईफाई उपलब्ध कराया जाएगा किस प्रकार पब्लिक वाईफाई पहुंचेगा। इसके बाद हमने इसकी कीमत के बारे में जाना इसकी कीमत क्या रहने वाली है। इसके बाद हमने अपने वाईफाई से जुड़े डाटा सुरक्षा के बारे में जाना। हम उम्म्मीद करते है की आपको इस आर्टिकल में पूरी जानकारी मिली होगी यदि आपको रह जानकारी अच्छी लगी तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

Vishnu

Vishnu Acharya is the Author & Founder of hindiAstar.com. He has also completed his graduation in Mechanical Engineering from RTU. He is passionate about Blogging & Technology.

Leave a Reply